RBI Central Bank Digital Currency क्या हैं और कैसे काम करती हैं | What is Central Bank Digital Currency in Hindi | What is CBDC in Hindi

RBI Central Bank Digital Currency क्या हैं और कैसे काम करती हैं | What is Central Bank Digital Currency in Hindi | What is CBDC in Hindi

केन्द्रीय बैंक डिजिटल मुद्रा क्या हैं | सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी कैसे काम करती हैं | सेन्ट्रल बैंक डिजिटल करेंसी में निवेश कैसे करें | What is Digital Currency in India | RBI Central Bank Digital Currency Kya Hai in Hindi

आज आप इस लेख के द्वारा What is a Central Bank Digital Currency In Hindi, Central Bank Digital Currency UPSC, List of Digital Currency of India, RBI Digital Currency Launch Date, Central Bank Digital Currency Logo, Central Bank Digital Currency Stock, Meaning, Benefits, Essay, निबंध, PDF एवं Digital Currency in India Price के बारें में विस्तृत जानकारी प्राप्त करेंगे.

केन्द्रीय बजट 2022-23 में वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने भारतीय डिजिटल करेंसी (Upcoming Digital Currency in India) को लेकर बड़ा ऐलान किया हैं.

मोदी सरकार ने देश में डिजिटल करेंसी को शुरू करके डिजिटल इण्डिया मिशन को एक कदम और आगे बढ़ाने का काम किया हैं. आरबीआई द्वारा जारी की गईं डिजिटल करेंसी की तैयारी प्रारम्भ हो गईं हैं जिसे देश में जल्द लॉन्च कर दिया जायेगा.


केन्द्रीय बैंक डिजिटल मुद्रा हिंदी में - Central Bank Digital Currency India in Hindi

भारत सरकार ने केन्द्रीय बजट 2022-23 में देश में डिजिटल करेंसी लॉन्च करने की घोषणा की हैं. वर्तमान समय में कोई सामान खरीदने के लिए अधिकतर भौतिक मुद्रा का उपयोग किया जाता हैं लेकिन डिजिटल करेंसी लॉन्च हो जाने के बाद लेन देन के लिए डिजिटल मुद्रा का भी प्रयोग किया जा सकेगा.

रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया के डिप्टी गवर्नर टी रवि शंकर के अनुसार डिजिटल करेंसी की तैयारी प्रारम्भ हो गईं हैं जिसे वित्त वर्ष 2022-23 में देश में लॉन्च कर दिया जायेगा. सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी क्या हैं और डिजिटल करेंसी इन इंडिया कैसे उपयोग करें के बारें में विस्तार से इस लेख में जानकारी प्राप्त करते हैं.

यह भी पढ़ें - Cryptocurrency क्या है, Cryptocurrency कैसे काम करती हैं और फायदे एवं नुकसान क्या हैं

 

सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी क्या हैं - What is Central Bank Digital Currency in Hindi

जिस भौतिक मुद्रा अथवा नगदी मुद्रा को डिजिटल सिस्टम में स्टोर करके इलेक्ट्रॉनिक रूप से प्रयोग किया जाता हैं उस मुद्रा को डिजिटल मुद्रा अथवा डिजिटल करेंसी कहा जाता हैं.

भारत में इसे सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (सीबीडीसी) अथवा केन्द्रीय बैंक डिजिटल मुद्रा नाम दिया गया हैं.

सेंट्रल बैंक डिजिटल मुद्रा अथवा सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (सीबीडीसी) फिजिकल करेंसी अथवा भौतिक मुद्रा का इलेक्ट्रॉनिक रूप होगा, जिसे भारतीय रिज़र्व बैंक एवं भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त होगी.

डिजिटल करेंसी वर्चुअल करेंसी तथा क्रिप्टोकरेंसी से मिलती जुलती फिएट मनी का एक डिजिटल संस्करण होगी जिसे आप वर्चुअल करेंसी अथवा वर्चुअल मनी भी कह सकते हैं.

डिजिटल करेंसी ब्लॉकचेन तकनीक पर आधारित होगी. डिजिटल करेंसी को केन्द्रीय बैंक आरबीआई द्वारा ही जारी किया जा सकेगा और इसे केन्द्रीय बैंक की बैलेंस शीट में भी शामिल किया जायेगा.

डिजिटल करेंसी की सबसे बड़ी खासियत यह होगी कि इसे सॉवरेन करेंसी अथवा नगदी में भी बदला जा सकेगा. इस New Digital Currency in India का नाम डिजिटल रुपया रखा जायेगा जो कि केन्द्रीकृत मुद्रा होगी.

डिजिटल रूपी पूर्ण रूप से डिजिटल होगी इसलिए आप इसे आभाषी मुद्रा (Virtual Currency in India) भी कह सकते हैं.

यह भी पढ़ें - Bitcoin क्या है, Bitcoin कैसे काम करता हैं और फायदे एवं नुकसान क्या हैं

 

सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी का अर्थ क्या हैं - Central Bank Digital Currency Meaning in Hindi

जिस नगदी मुद्रा को डिजिटल सिस्टम में स्टोर करके इलेक्ट्रॉनिक रूप से प्रयोग किया जाता हैं उस मुद्रा को डिजिटल मुद्रा अथवा डिजिटल करेंसी कहा जाता हैं.

आरबीआई सेंट्रल बैंक डिजिटल मुद्रा अथवा सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (सीबीडीसी) फिजिकल करेंसी अथवा भौतिक मुद्रा का इलेक्ट्रॉनिक रूप होगा. डिजिटल करेंसी को आप ई मुद्रा भी कह सकते हैं, जिसका संचालन पूर्ण रूप से इलेक्ट्रॉनिक रूप में होता हैं.

यह भी पढ़ें - ई-रूपी क्या हैं | ई-रूपी कैसे काम करता हैं | e-Rupi Full Form in Hindi

 

CBDC Full-Form क्या हैं - What is CBDC Full Form in Hindi

CBDC Full Form in Hindi केन्द्रीय बैंक डिजिटल मुद्रा हैं.

Full-Form of CBDC Central Bank Digital Currency हैं.

यह भी पढ़ें - RBI Positive Pay System क्या है

 

आरबीआई डिजिटल करेंसी कब जारी की जाएगी - RBI Digital Currency Launch Date in Hindi

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने Indian Digital Currency Launch Date के बारें में निश्चित तिथि के बारें में कोई जानकारी नहीं दी हैं. केन्द्रीय बजट भाषण में उन्होंने डिजिटल रूपया लॉन्च करने के विषय में सिर्फ इतना बताया हैं कि इसे वित्त वर्ष 2022-23 में जारी किया जायेगा.

यह भी पढ़ें - आर्थिक सर्वेक्षण क्या हैं हिंदी में | Economic Survey PDF in Hindi

 

सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी के प्रकार - Types of Digital Currency in India in Hindi

सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी दो प्रकार में लॉन्च की जाएगी.

1 - रिटेल डिजिटल करेंसी (फुटकर केन्द्रीय डिजिटल मुद्रा)

रिटेल डिजिटल मुद्रा का प्रयोग देश के सामान्य नागरिकों एवं कंपनियों के द्वारा किया जायेगा.

2 - होलसेल डिजिटल करेंसी (थोक केन्द्रीय डिजिटल मुद्रा)

होलसेल डिजिटल मुद्रा का प्रयोग वित्तीय संस्थाओं के द्वारा किया जायेगा.

यह भी पढ़ें - SBI Home Loan Documents List PDF Download

 

आरबीआई सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी की विशेषताएँ क्या हैं - What are the features of RBI Central Bank Digital Currency in Hindi

1 - डिजिटल करेंसी को भारतीय रिज़र्व बैंक एवं भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त होगी.

2 - भारतीय डिजिटल करेंसी ब्लॉकचेन तकनीक पर आधारित होगी.

3 - डिजिटल करेंसी को केन्द्रीय बैंक आरबीआई द्वारा ही जारी किया जा सकेगा.

4 - इसे केन्द्रीय बैंक की बैलेंस शीट में भी शामिल किया जायेगा.

5 - इसे सॉवरेन करेंसी अथवा नगदी में भी बदला जा सकेगा.

6 - आरबीआई केन्द्रीय डिजिटल मुद्रा को दो प्रकार रिटेल एवं होलसेल के लिए लॉन्च किया जायेगा.

7 - डिजिटल करेंसी कागजी मुद्रा की तरह कार्य करेगी.

यह भी पढ़ें - Axis Bank Home Loan Documents List PDF Download

 

आरबीआई डिजिटल करेंसी कैसे काम करेगी - How RBI Digital Currency Will Work in Hindi

Virtual Currency in India सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी दुनिया भर में बहुप्रचलित क्रिप्टोकरेंसी जैसे Monero (XMR), Ripple (XRP), Peercoin (PPC), Dash (DASH), Faircoin (FAIR), Dogecoin (Doge), Litecoin (LTC), Ethereum (ETH) एवं Bitcoin (BTC) की तरह उपयोग किया जायेगा.

डिजिटल करेंसी ब्लॉकचेन तकनीक पर आधारित होगी और यह भारतीय केन्द्रीय बैंक द्वारा मान्यता प्राप्त होगी.

सीबीडीसी कैसे काम करेगी, के बारें में रिजर्व बैंक ऑफ़ इण्डिया ने कोई भी गाइडलाइन्स जारी नहीं किया हैं. आरबीआई द्वारा सीबीडीसी लॉन्च करते ही विस्तृत दिशा निर्देश भी जारी कर दिया जायेगा.

यह भी पढ़ें - Post Office Interest Rates

 

सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी का इस्तेमाल कैसे किया जायेगा - How to use Central Bank Digital Currency in Hindi

भारतीय डिजिटल मुद्रा डिजिटल रुपया का प्रयोग कैसे किया जायेगा के बारें में अभी भारतीय रिज़र्व बैंक एवं भारत सरकार द्वारा दिशा निर्देशों का निर्धारण नहीं किया गया हैं. केन्द्रीय बैंक द्वारा सिर्फ यह बताया गया हैं कि डिजिटल रूपया का प्रयोग भौतिक मुद्रा अथवा नगदी की तरह किया जा सकेगा.

डिजिटल करेंसी नगदी मुद्रा का एक इलेक्ट्रॉनिक version होगा जिसे लोग डिजिटल रूप में इस्तेमाल करेंगे. आप जिस व्यक्ति को डिजिटल करेंसी में भुगतान करेंगे वह धनराशि उस व्यक्ति के एकाउंट में सीधे ट्रान्सफर हो जाएगी.

यह भी पढ़ें - पेटीएम रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर कैसे Change करें

 

सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी के लाभ क्या हैं - What are the benefits of Central Bank Digital Currency in Hindi

डिजिटल करेंसी का फायदा क्या हैं - What are the advantages of digital currency in India in Hindi निम्न लिखित हैं.

1 - डिजिटल करेंसी के आने के बाद नगदी मुद्रा को प्रिंट करने की लागत में कमी आएगी. जिससे सरकार को नगदी मुद्रा छापने में लगाने वाले खर्च में बचत होगी.

2 - डिजिटल करेंसी आने के बाद लोगों की नगद रुपयों पर निर्भरता कम हो जाएगी.

3 - डिजिटल करेंसी आने के बाद लोगों को पैसा जमा एवं निकासी करने के लिए बैंक, पोस्ट ऑफिस में लाइन लगाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी.

4 - फिजिकल करेंसी को रखने, कहीं ले जाने इत्यादि कामो में बहुत रिस्क होता हैं, डिजिटल मुद्रा के आ जाने के बाद लोग सुरक्षित तरीके से रुपयों को रख सकेंगे एवं कही भी ले जा सकेंगे.

5 - डिजिटल रूपया आने से लोग कभी भी नेशनल एवं इंटर नेशनल बैंक एकाउंट में पैसा ट्रान्सफर कर सकेंगे.

6 - डिजिटल करेंसी से लेनदेन ऑनलाइन होगा, इससे गवर्नमेंट बहुत ज्यादा Transaction करने वालों को ट्रैक कर सकेगी. जिसके कारण काले धन पर लगाम लगेगी और कर चोरी भी रुक सकेगी.

यह भी पढ़ें - Paytm से Online LIC Premium Payment कैसे करें

 

भारतीय डिजिटल करेंसी के नुकसान क्या हैं - What are the Disadvantages of Digital Currency India in Hindi

डिजिटल करेंसी के आने के बाद लोगों का बैंकों में बैंकिंग कार्य हेतु कम आना जाना होगा. जिसके कारण बैंकिंग सेक्टर में मैन पावर कम करना होगा और नौकरियों में कमी आएगी. बैंकिंग सेक्टर से जुड़े लोग अपनी जॉब को लेकर असुरक्षित महसूस करने लगेंगे.

यह भी पढ़ें - Paytm से Online Electricity Bill Payment कैसे करें

 

सेन्ट्रल बैंक डिजिटल करेंसी में निवेश कैसे करें - How to Invest in Central Bank Digital Currency in Hindi

आरबीआई डिजिटल करेंसी में निवेश कैसे करें, के बारें में रिजर्व बैंक ऑफ़ इण्डिया ने कोई भी गाइडलाइन्स जारी नहीं किया हैं. आरबीआई द्वारा सीबीडीसी लॉन्च करते ही विस्तृत दिशा निर्देश भी जारी कर दिया जायेगा.

यह भी पढ़ें - Central Budget Hindi PDF / English PDF Free Download

 

सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी का भविष्य क्या हैं - What is the future of Central Bank Digital Currency in Hindi

डिजिटल करेंसी अभी प्रारंभिक चरण में हैं लेकिन भविष्य में इसका प्रयोग फिजिकल मुद्रा के स्थान पर किया जा सकेगा. डिजिटल मुद्रा से विदेश में किसी भी बैंक खातें में तेज गति से पैसा ट्रान्सफर किया जा सकेगा. शॉपिंग, टिकट बुकिंग, एजूकेशन फीस इत्यादि स्थानों पर डिजिटल करेंसी का प्रयोग संभव होगा. अतः यह मानना सही होगा कि डिजिटल करेंसी दुनिया का भविष्य बनने वाली हैं.

यह भी पढ़ें - Union Budget Mobile App क्या हैं और Free में कैसे Download करें

 

डिजिटल करेंसी और क्रिप्टोकरेंसी में क्या अंतर हैं - What are the differences between Digital Currency and Cryptocurrency in Hindi

Bitcoin vs Central Bank Digital Currency vs Cryptocurrency निम्न लिखित हैं.

डिजिटल करेंसी उस देश की भौतिक मुद्रा का इलेक्ट्रॉनिक रूप होता हैं जिसे उस देश के केन्द्रीय बैंक एवं सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त होती हैं. डिजिटल करेंसी को उस देश के रिज़र्व बैंक द्वारा जारी किया जाता हैं एवं बैलेंस शीट में भी शामिल किया जाता हैं. डिजिटल करेंसी की सबसे बड़ी खासियत यह होती हैं कि इसे सॉवरेन करेंसी अथवा नगदी में भी बदला जा सकता हैं. क्रिप्टोकरेंसी की तरह डिजिटल करेंसी की वैल्यू (Indian Digital Currency Price) में किसी भी तरह का उतार चढ़ाव नहीं होता हैं.

क्रिप्टोकरेंसी डिसेंट्रलाइज्ड करेंसी होती हैं. किसी भी नियामक प्राधिकरण द्वारा अनुमोदित न होने के कारण इसके ऊपर किसी सरकार एवं केन्द्रीय बैंक का कोई अधिकार नहीं होता हैं. क्रिप्टोकरेंसी एक स्वतंत्र मुद्रा होने के कारण इसका कोई Owner नहीं हैं, इसलिए इनका भविष्य सुरक्षित नहीं होता हैं. क्रिप्टोकरेंसी की वैल्यू (Cryptocurrency Price) स्थिर नहीं होती हैं, इसमें हमेशा उतार चढ़ाव होता रहता हैं.

यह भी पढ़ें - SBI पहला कदम बचत खाता एवं पहली उड़ान बचत खाता क्या हैं

 

डिजिटल करेंसी से जीवन में क्या बदलाव आयेंगे - Digital Currency Effect in Hindi, What changes will digital currency bring in life in Hindi

डिजिटल करेंसी आने के बाद कैश रुपयों पर निर्भरता कम हो जाएगी. डिजिटल करेंसी आने के बाद लोग डिजिटल वॉलेट से ही सारा काम करने लगेंगे, जिसके कारण बैंक, पोस्ट ऑफिस में लोगों को पैसा जमा एवं निकासी करने के लिए लाइन लगाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी.

लोग नगद मुद्रा का उपयोग कम कर देंगे और सभी तरह के वित्तीय लेनदेन में डिजिटल मुद्रा का उपयोग करने लगेंगे.

यह भी पढ़ें - DakPay App क्या हैं, DakPay App में कैसे Account Create करें

 

आरबीआई डिजिटल करेंसी की चुनौतियाँ क्या होगी - What will be the challenges of CBDC in Hindi

1 - देश की सर्वाधिक जनसँख्या ग्रामीण होने के कारण लोगों को डिजिटल भुगतान प्रणाली का इस्तेमाल करने से डर लगता हैं. जिसके कारण लोग डिजिटल करेंसी का प्रयोग नहीं करना चाहेंगे.

2 - देश में इंटरनेट स्पीड की भी बहुत बड़ी समस्या हैं, डिजिटल करेंसी के सुचारू लेनदेन के लिए तेज इन्टरनेट की आवश्यकता पड़ेगी.

3 - मनी लांड्रिंग तथा आतंकी वित्त पोषण में डिजिटल मुद्रा के दुरुपयोग को रोकने के लिए बैंकों को नो योर कस्टमर (KYC) मानदंड का कड़ाई से पालन कराना होगा.

4 - आरबीआई केन्द्रीय डिजिटल मुद्रा के लिए कानूनी बदलाव की भी आवश्यकता होगी. भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम भौतिक मुद्रा के लिए बनाया गया हैं. इसी प्रकार सिक्का अधिनियम, सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम एवं विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियमों में भी संशोधन करना पड़ेगा.

यह भी पढ़ें - Paytm से Bank Account में Balance / Paisa / Money  कैसे Transfer करें

 

क्या डिजिटल करेंसी सुरक्षित हैं - Are Digital Currencies safe In Hindi

क्रिप्टोकरेंसी की तरह डिजिटल करेंसी भी ब्लॉकचेन तकनीक पर आधारित होगी इसलिए यह पूर्ण रूप से सुरक्षित रहेगी. साथ ही भारत सरकार एवं भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा मान्यता प्राप्त होने के कारण यह हमेशा वैध मुद्रा रहेगी.

यह भी पढ़ें - Senior Citizens Savings Scheme – SCSS (वरिष्ठ नागरिक बचत योजना) क्या हैं

 

विदेशों में डिजिटल करेंसी - Digital Currency Abroad in Hindi

विश्व के कई देशों के केन्द्रीय बैंक अपने देश के लिए डिजिटल करेंसी को शुरू करने की तैयारी कर रहे हैं. जिसमे कई बड़े देशों के केन्द्रीय बैंकों ने पायलट प्रोजेक्ट के रूप में डिजिटल करेंसी पर काम प्रारम्भ कर दिया हैं.

भारत का पड़ोसी देश चीन वर्ष 2014 से ही चाइना डिजिटल करेंसी पर काम कर रहा था. चाइना में डिजिटल करेंसी अभी शुरूआती चरण में जारी भी कर दी गयी हैं. चीन ने Central Bank Digital Currency China का नाम e-CNY (Renminbi) रखा हैं जिसे Wechat Users इस्तेमाल कर सकते हैं.

वहीँ यूनाइटेड स्टेट अमेरिका का केन्द्रीय बैंक फेडरल रिज़र्व भी Central Bank Digital Currency USA पर बहुत तेजी से कार्य कर रहा हैं. बहुत जल्द Central Bank Digital Currency Federal Reserve का भी प्रयोग शुरू हो जायेगा.

स्वीडन में नगदी मुद्रा का 01 प्रतिशत उपयोग किया जाता हैं फिर भी स्वीडिश सेंट्रल बैंक रिक्स बैंक ई क्रोना डिजिटल करेंसी के कार्यान्वयन पर बहुत तेजी से कार्य कर रहे हैं.

जापान अपनी केन्द्रीय डिजिटल मुद्रा तथा ब्रिटेन का केन्द्रीय बैंक एवं यूरोपियन सेंट्रल बैंक डिजिटल यूरो नामक डिजिटल करेंसी शुरू करने वाले हैं.

यह भी पढ़ें - PNB ONE App क्या हैं, PNB ONE App को Free में कैसे Download करें और कैसे Use करे

 

डिजिटल करेंसी का महत्व क्या हैं - What is the importance of Digital Currency in Hindi

सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी के माध्यम से भारत सरकार के डिजिटल इण्डिया मिशन को एक कदम और आगे बढ़ाने में सहायता मिलेगी. देश में डिजिटल करेंसी के माध्यम से डिजिटल अर्थव्यवस्था को बढाने तथा अधिक कुशल एवं सस्ती मुद्रा प्रबंधन प्रणाली को बढ़ावा मिलेगा. डिजिटल करेंसी से फिनटेक सेक्टर को नए अवसर मिलेगा साथ ही एक नया ग्लोबल पेमेंट सिस्टम का भी निर्माण होगा.

यह भी पढ़ें - SBI ATM Card / Debit Card का PIN (Password) कैसे बनाये

 

Central Bank Digital Currency FAQ - RBI Digital Currency frequently asked questions

प्रश्न 1 - Central Bank Digital Currency Latest News क्या हैं?

उत्तर - फाइनेंस मिनिस्टर ने घोषणा की हैं कि फाइनेंसियल ईयर 2022-23 में भारत की डिजिटल करेंसी लॉन्च की जाएगी.

प्रश्न 2 - क्रिप्टोकरेंसी पर कितना आयकर देना होगा?

उत्तर - क्रिप्टोकरेंसी पर 30 प्रतिशत इनकम टैक्स देना होगा.

प्रश्न 3 - RBI Digital Rupee क्या हैं?

उत्तर - डिजिटल रूपया भारतीय फिजिकल मुद्रा का डिजिटल संस्करण हैं.

प्रश्न 4 - भारतीय डिजिटल करेंसी का नाम क्या हैं?

उत्तर - आरबीआई डिजिटल करेंसी का नाम डिजिटल रूपया हैं.

प्रश्न 5 - भारतीय डिजिटल करेंसी किसके द्वारा लॉन्च की जाएगी?

उत्तर - भारत में डिजिटल मुद्रा भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा लॉन्च की जाएगी.

प्रश्न 6 - क्या डिजिटल करेंसी लीगल टेंडर होगी?

उत्तर - हाँ आरबीआई डिजिटल करेंसी लीगल टेंडर होगी.

 प्रश्न 7 - Central Bank Digital Currency Logo क्या हैं?

उत्तर - केन्द्रीय डिजिटल मुद्रा अभी लॉन्च नहीं हुई हैं इसलिए डिजिटल रूपया लोगो निर्धारित नहीं किया गया हैं.

प्रश्न 8 - List of Digital Currency in India क्या हैं?

उत्तर - Central Bank Digital Currency List in India में सिर्फ एक करेंसी डिजिटल रूपया हैं.

प्रश्न 9 - Central Bank Digital Currency and the future of Monetary Policy क्या हैं?

उत्तर - आरबीआई डिजिटल करेंसी Monetary Policy के बारें में केन्द्रीय बैंक ने दिशा निर्देश जारी नहीं किया हैं .

प्रश्न 10 - डिजिटल करेंसी का उपयोग कहाँ कर सकेंगे?

उत्तर - डिजिटल करेंसी का प्रयोग हम हर तरह के वित्तीय लेनदेन में कर सकेंगे.

यह भी पढ़ें - SBI Debit Card / ATM Card घर बैठे Block कैसे करे

 

Conclusion

मुझे उम्मीद हैं कि आज के Article सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी क्या है in Hindi पसंद आया होगा.

आज के Article में आपने डिजिटल करेंसी निबंध in Hindi, डिजिटल करेंसी का लाभ क्या हैं in Hindi, डिजिटल करेंसी की विशेषताएं क्या हैं in Hindi एवं How does Central Bank Digital Currency Work in Hindi के बारें में विस्तारपूर्वक जानकारी प्राप्त की हैं.

यदि आपको What is Digital Currency in Hindi Full Information के सम्बन्ध में कोई सुझाव देना हो तो Comment कीजिये एवं Article सीबीडीसी क्या  है in Hindi को अधिक से अधिक लोगों को Share कीजिये.

 

यह भी पढ़ें - ICICI Lombard का नया एक वर्ष का हेल्थ बीमा कवर (ICICI Lombard Health Insurance) सिर्फ 699 रुपये में

यह भी पढ़ें - Life Insurance Corporation Of India - LIC की Insurance Policy के प्रीमियम का Payment Credit Card से कैसे करें

यह भी पढ़ें - Paytm Money प्लेटफ़ॉर्म पर Exchange Traded Funds - ETFs ट्रेडिंग सुविधा क्या हैं और इसके फायदे क्या हैं


Post a Comment

0 Comments